मंगलवार, 2 जनवरी 2018

पंडुआ

 लखनौती से 20 मील दूर यह स्थान अलाउद्दीन अलीशाह के समय में बंगाल की राजधानी था| 1360 में सिकन्दर शाह  के काल में बनी ‘अदीना मस्जिद’ के भग्नावशेष यहाँ अभी मौजूद हैं| इसमें सिकन्दरशाह की कब्र भी है इसमें 400 गुम्बद हैं| इस मस्जिद में हिन्दू वास्तुकला का प्रभाव देखा जा सकता है| पंडुआ में ही जलालुद्दीन मुहम्मदशाह की भी कब्र है, जिसे इखलाखी मकबरा भी कहा जाता है| यह स्थल 14वीं शताब्दी में चिश्ती सूफी सिलसिले की गतिविधियों का भी केंद्र रहा है|




कृपया पोस्ट पर कमेन्ट करके अवश्य प्रोत्साहित करें|

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें











हमारीवाणी

www.hamarivani.com