गुरुवार, 10 सितंबर 2020

मनुआ तेरा खेल

वहीं खत्म हो जाएगा, मनुआ तेरा खेल।
जितनी मात्रा में भरा, प्रभु ने तन में तेल।
प्रभु ने तन में तेल, पूर्ण कर ज्योति दिखा दी।
पल-पल की तस्वीर, भाग्य में फीड करा दी।
फिर भी जब जब मित्र, कर्म प्रबल हो जाएगा।
हर संकट क्षण मात्र, वहीं खत्म हो जाएगा।।

 

 

कृपया पोस्ट पर कमेन्ट करके अवश्य प्रोत्साहित करें|

कोई टिप्पणी नहीं:

टिप्पणी पोस्ट करें











हमारीवाणी

www.hamarivani.com