शुक्रवार, 22 मई 2020

भारतीय हम बाद में

पहले यूपी, एमपी, दिल्ली, हरियाणा, गुजरात के हैं।
फिर केरल, पंजाब, असम, कर्नाटक या बंगाल के हैं।
काश्मीर या कलिंग, मराठा हममें कितने देश बसे,
कोरोना ने समझाया है भारतीय हम बाद में हैं।।
सीमाओं पर बंधन इतने खड़ी चाइना वाल ज्यों,
मजदूरों की खातिर क्रोधित होकर नाचा काल ज्यों,
जैसे चूहे बारिश में बिल बाहर दौड़ लगाते हैं,राजनीति ने फैलाया है छिन्न भिन्न कर जाल यों।।
जन-गण-मन की उड़ी धज्जियाँ असली जन लाचार है,
जननी जन्मभूमि का नारा देख लिया साकार है,
फिर भी हृदय उदार देश का जगह जगह दिख जाता है,
पीड़ित जन की मदद कर रहे लोगों की भरमार है।
विमल कुमार शुक्ल 'विमल'
9198907871

कृपया पोस्ट पर कमेन्ट करके अवश्य प्रोत्साहित करें|

2 टिप्‍पणियां:











हमारीवाणी

www.hamarivani.com